इस तरह घर बैठे दे चीन को जबाब( Help Indian Army)

  • News

भारत जिसका मूल मंत्र है “बसुधैब कुटुम्बकम”. यानि पूरी बिस्व हमारा परिबार है। इस मंत्र को मानने वाली देश पे जब कोई खतरा आता है तब हमारे देश बाशी एकजुट होक लड़ते है। जैसे की आप सब जानते है 15 जून 2020 के रात को चीन का धोकेबाज सेना हमारा जबान पे attack करदिए। उनके साथ लड़ते लड़ते हमारा 20 जवान बीर गति प्राप्त हुए। आपको बतादे हमारा जवान सहीद होगए परंतु हमारा देश की एक इंच के जमीन दुश्मनो को लेने नहीं दिए।

हमारा जवान border पे लड़ते लड़ते सहीद हो गए। मगर हम जैसे आम नागरिक दुश्मनो को लड़ने की ताकत दे रहे है। अगर आप आपने चारो तरफ देखेंगे एक या फिर एक से अधिक Chinese सामन आपके अगल बगल में पड़ा होगा।

यहाँ पे आपको बतादे जब हम कोई Chinese सामान खरीदते है वो हमारे India पे क्यों नहीं बना हो आखिर पे वो तो Chinese कंपनी है। जब वो अपने profit को अपने देश पे लेके गए तब उनके देश का अर्थ तंत्र मजभूत हुई। अब उनके सरकार हमारे पैसा को लेके अपने Army तहत हमारे खिलाप लढने को भेजे रही है।

पिछले कुछ दिनों में आप हर Social Media पे #BoycottChina या फिर #Boycottchineseproduct जैसे hashtag देखे होंगे। मगर ये सब हमारा दो दिनो केलिए होता है। उसके बाद हम अपने अपने स्थिति में आजाते है। इससे देखकर चीन के सरकार हमारा कटाख्य कर रहा है।

Source: IndiaTv

अब आपके लिए सोचने की बात क्या आप देश का सामान खरीद के हमारा देश की सेना को सहायता करना है या फिर चीन के सेना का।

अब आगे में आपको बताने वाला हु कैसे आप घर बैठे चीन के साथ सीधा लड़ाई में शामिल हो सकते है।

घर बैठे दे चीन को जबाब कैसे दे?

घर बैठे आप जितना कार्य देश केलिए कर सकते हो उतना कोई भी नहीं करसकता है। हमारे सेना हमारे राख्या केलिए दुश्मनो से अपने प्राण को त्याग कर लड़ाई कर रहा है। मगर आपको केबल इन तीन काम करना है।

१) Chinese सामान को नहीं खरीदना है

भाई और बेहनो आपको बतादे की आज आपको प्रण लेना है की अब से आप जब भी Market जाओगे या फिर Online Shopping करोगे तब आपको Chinese सामान को कमसे काम या ना के बराबर खरीदना है। हमारा market अब Chinese सामने से भरा पड़ा है हीर भी आपको देशी या फिर दूसरे देश की कंपनी के सामान खरीदना है।

दूसरे में सभी दुकानदार को भी अपने देश केलिए चीन के सामान को कमसे कम बेचना है और India के सामान को अधिक बेचना की कोसिस करना चाहिए।

अगर आप कौनसी कंपनी चीन का है और कौनसी नहीं जानना चाहते हो तो आप Google का सहायता ले सकते हो। ऐसे हम मिलकर हमारे अर्थ तंत्र को तो मझबूत करेंगे ही दूसरे में चीन को यह message भी जाएगा की अगर भारत के जनता चाहे तो क्या हाल कर सकती है।

Chinese सामान को नहीं खरीदना है इसका मतलब यह नहीं की आपको ख़रीदे हुए पुरानी Mobile या फिर अन्य सामान को फेक देना। इससे आपका नुकसान हो सकता है। मगर अबसे आपको आगे कोई भी चीन के सामान को नहीं खरीदना है।

२) स्वेदेशी को Promote करना है

दोस्तों चीन के खतरनाक करोना वायरस के बजहा से देश और दुनिआ के अर्थ बेबास्ता निचे चली गई है। इससे सुधरने केलिए हमें स्वेदेशी को अपनाना होगा। जब सभी भारतीय भारत में बनाने वाली चीजों को भरपूर इस्तेमाल करेंगे तब दुनिआ में एक Eco-System भारत के सामान का प्रस्तुत हो जाएगा।

३) चीन प्रेमी लोगो का बहिष्करण

जब अपने पडोशी के साथ आपका कोई misunderstanding होती है और आपका घर का कोई भी सदस्य उनके साथ होती है तब सोचितो क्या होता होगा। ऐसे हमारे देश में कुछ पत्रकार, politician, Celebrity है जो खाते है भारत में मगर गाते है चीन और पाकिस्तान का। इन् लोगो का क्या करना चाहिए आप सोचिए। इन् लोग चीन से पैसा कमाने केलिए अपने देश को बेच देते है। ऐसे लोग चीन में आपको नहीं मिलेंगे। अगर हम लोग इन लोगो का संपूर्ण बहिस्कार करेंगे तभी यह लोग अपने आप ठीक हो जाएंगे।

अंतिम बात

अपने आप को देश केलिए तैयार करना है। देश में एक बड़े क्रांति की जरुरत है। जैसे नोट बंदी के समय ये बोलै गयाथा की यह successful नहीं होगा और भारत दुब जाएगा। मगर देश बसिओ के कारन यह पूरी सुसस्फुल हो गया। इसी तरह Make in India के तरह देश को समृद्ध करना है।

अगर इस पोस्ट में कुछ भी छूट गया है तो आप हमें सूचित कर सकते है। इस से सम्भदित अगर आपका कुछ सुझाव है नीचे कमेंट करके बताइए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *